छीजनग्रस्त बालिकाओं ने मनाया राष्ट्रीय विज्ञान दिवस

पटना-प्रथम संस्था द्वारा संचालित सेकंड चांस कार्यक्रम के अंतर्गत शिक्षा प्राप्त कर रहे छीजनग्रस्त बालिकाओं ने,विज्ञान के क्षेत्र में असीम कार्य करने एवं अपने योगदान देने के लिए डॉक्टर सी० वी० रमन को याद करते हुए आज दिनांक 28 फरवरी को विज्ञान दिवस के रूप में मनाया।संस्था द्वारा संचालित सेकंड चांस कार्यक्रम से जुड़कर सभी 82 बालिकाएं माध्यमिक परीक्षा की तैयारी में सफलताओं की ऊंचाइयों को छूने के लिए काफी मेहनत कर रही हैं!इसी दौरान उन सभी ने विज्ञान विषय के तहत काफी प्रयोगात्मक कार्य सीखे हैं। गायघाट केंद्र पर कार्यक्रम का आयोजन कर वहां पर मौजूद सभी अतिथि गण एवं संस्था के सहयोगी सदस्यों को इन बालिकाओं ने विभिन्न प्रकार के प्रयोग जैसे गुलाब का चमकना,पारा का चमत्कार,सोडियम का परिचय,और माइक्रोस्कोप का इस्तेमाल आदि किए और विज्ञान का मानव जीवन के क्षेत्र में मिलने वाले फायदे व नुकसान के बारे में बताया तथा इसके साथ ही कुछ तार्किक प्रश्न जैसे रेफ्रिजरेटर का फ्रीजर ऊपर क्यों होता है।टावर एवं सिग्नल में लाल रंग के प्रकाश का प्रयोग क्यों किया जाता है,आदि प्रश्नों पर चर्चा की!कार्यक्रम में मौजूद अतिथिगण संकुल समन्वयक रामखेलावन प्रसाद महतो,शिक्षाविद एवं समाजसेवी सूर्यकांत गुप्ता,किलकारी बाल भवन से सुधीर कुमार आदि ने सभी बालिकाओं का अपने जीवन के मार्ग में निरंतर प्रयासरत रहते हुए, लगातार आगे बढ़ते रहने के लिए हौसला अफजाई किया और इन सभी ने मिलकर डॉक्टर सी वी रमन को अपना प्रेरणास्रोत मानते हुए उनके तस्वीर पर माल्यार्पण एवं पुष्प अर्पित कर उनका नमन कर सभी संकल्पित हुए कि हम सभी अपने जीवन को आगे की राह पर बढ़ते रहने के लिए प्रयासरत रहेंगे। इस पूरे कार्यक्रम में प्रथम संस्था के कार्यक्रम समन्वयक राजेश कुमार पांडे, मोहम्मद सोहेल, अमन कुमार, रुचि गुप्ता, गौरव कुमार, मोहम्मद इमरान, खुशबू कुमारी आदि सदस्यों की मुख्य भागीदारी रही।
रिपोर्ट-अरुण कुमार