अमेरिकी राजदूत ने मुख्यमंत्री बघेल से की मुलाकात

अरविन्द तिवारी की रिपोर्ट

 रायपुर — मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से आज यहां उनके निवास में अमेरिका के राजदूत केनेथ जस्टर ने सौजन्य मुलाकात की। मुख्यमंत्री ने चर्चा के दौरान कहा कि बायोफ्यूल के निर्माण में अमेरिका को विशेषज्ञता हासिल है। छत्तीसगढ़ में धान और गन्ना की पैदावार बहुतायत में होती है। राज्य सरकार धान से एथेनॉल के उत्पादन की सम्भावना तलाश रही है। इस पर अमेरिका के राजदूत केनेथ जस्टर ने बताया की कई अमेरिकन कंपनियां बायो फ्यूल  क्षेत्र में काम कर रहीं हैं। इन कंपनियों को वे सूचित करेंगे।मुख्यमंत्री ने जस्टर को बताया कि छतीसगढ़ में आई. टी. के क्षेत्र में भी अमेरिकन कंपनियों के लिए अच्छी संभावनाये हैं।
मुख्यमंत्री ने नक्सल समस्या के बारे में श्री जस्टर को बताया कि नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में शिक्षा, स्वास्थ्य और अधोसंरचना विकास के काम किये जा रहे हैं। बस्तर के लोहण्डीगुड़ा में सत्रह सौ किसानों की पूर्व में अधिग्रहित 4200 एकड़ जमीन उन्हें वापस की गयी है। हाट- बाजारों में चिकित्सा दल द्वारा ग्रामीणों का नि;शुल्क इलाज किया जा रहा है। पायलट प्रोजेक्ट के रूप में एनीमिक और कुपोषित महिलाओं को गरमा गरम भोजन दिया जा रहा है। तेंदूपत्ता संग्रहण पारिश्रमिक की दर ढाई हजार रूपये से बढ़ाकर चार हजार रूपये कर दी गई है। वन भूमि पर काबिज वनवासियों को वन भूमि के पट्टे दिये जा रहे हैं। बच्चों को 12 वीं कक्षा तक निःशुल्क शिक्षा दी जा रही है। मुख्यमंत्री ने उन्हें वाटर शेड प्रबंधन और पशुधन विकास के लिये राज्य में प्रारम्भ की गई एकीकृत योजना नरवा, धुरवा, गरवा और बाड़ी योजना के सम्बन्ध में भी बताया। इस अवसर पर मुख्य सचिव सुनील कुजूर , मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव गौरव द्विवेदी , मुख्यमंत्री के सलाहकार विनोद वर्मा ,और अमेरिका की कान्सुलेट जनरल सुश्री जेनिफर लार्सन उपस्थित थीं।