मौत के मुकाबले में अमोरा के प्रतीक तिवारी ने मारी बाजी,खली से भी कर चुके है दो-दो हाथ-

अरविन्द तिवारी की रिपोर्ट

जाँजगीर चाँपा — जिले के नवागढ़ विकासखण्ड के माँ शवरीन दाई की पावन धरा अमोरा {महन्त} निवासी रामगुलाम तिवारी के इकलौते सुपुत्र प्रतीक तिवारी ने राजस्थान के सुजानगढ़ में आयोजित मौत के मुकाबले में देव द बूल के छक्के छुड़ाकर विजयश्री हासिल कर ली। उनकी इस उपलब्धि से पूरा छत्तीसगढ़ गौरवान्वित है । अब प्रतीक तिवारी का चयन अगले मुकाबले के लिये कर दिया गया है । अभी प्रतीक तिवारी के शरीर में किल घुसने एवं कुछ अंदरुनी चोट के कारण डाक्टरों द्वारा उन्हें स्वास्थ्य लाभ और विश्राम करने की सलाह दी गयी है , इसलिये वे अभी राजस्थान में ही विश्राम कर रहे हैं । वे 25 मई को पुन: पाली ( राजस्थान) के मैदान में मुकाबले के लिये उतरेंगे । अब सबकी निगाहें अगले मुकाबले पर टिकी हुई है। सभी छत्तीसगढ़वासी इस युवा की जीत के लिये भगवान से दुआ कर रहे हैं ।

गौरतलब है कि प्रतीक तिवारी प्रतीक तिवारी रेसलिंग का प्रशिक्षण “खली” के प्रशिक्षण केंद्र में किया है और खली से भी दो दो हाथ कर चुका है ।अब तक इसे कई नेशनल , इंटरनेशनल मैडल भी मिल चुका है। अमोरा जैसे छोटे से गाँव में रहने वाले इस युवा ने अनेकों महानगरों में रेसलिंग महासंग्राम में पुरस्कार जीतकर गाँव, जिला और छत्तीसगढ़ राज्य का नाम रौशन किया है ।देखें विडियो…..