25 जुलाई के बाद बदल सकता है राम जन्मभूमि की सुनवाई का तरीका

अरविन्द तिवारी की रिपोर्ट

नई दिल्ली –   श्रीराम जन्मभूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट ने मध्यस्थता कमेटी से रिपोर्ट मांगी है। पैनल को यह रिपोर्ट अगले गुरुवार तक सुप्रीम कोर्ट में जमा करनी होगी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि अगर पैनल कहता है कि मध्यस्थता कारगर नहीं साबित होती है तो 25 जुलाई के बाद ओपन कोर्ट में रोजाना इसकी सुनवाई होगी। कोर्ट के कहने का मतलब यह है कि इस मामले में मध्यस्थता जारी रहेगी या नहीं ? इसका फैसला 18 जुलाई को हो जायेगा। सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता ने कोर्ट से कहा है कि इस मामले में मध्यस्थता काम नहीं कर रही है तो ऐसे में सुप्रीम कोर्ट को ही फैसला सुनाना चाहिये। वहीं कोर्ट ने कहा कि है हमने मध्यस्थता के लिये वक्त दिया है उसकी रिपोर्ट में अभी वक्त है।