सत्ता जाते ही रात में चली जेसीबी-

अरविन्द तिवारी की रिपोर्ट

अमरावती — आंध्रप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू के नेतृत्व में बनाये गये आवास को देर रात जेसीबी से तोड़ दिया गया।
गौरतलब है कि मुख्यमंत्री वाय एस जगनमोहन रेड्डी ने सोमवार को प्रजा वेदिका को गिराने के आदेश जारी किये थे। प्रजा वेदिका में एक कॉन्फेंस को संबोधित करते हुए रेड्डी ने कहा था कि हॉल अवैध तरीके से बनाने और उसमें कई नियमों के उल्लंघन का जिक्र किया था। बिल्डिंग तोड़े जाने के विरोध में भारी संख्या में नायडू के समर्थक वहां इकट्ठा हो गए थे। आंध्रप्रदेश के पूर्व सीएम चंद्रबाबू नायडू सत्ता बेदखल होने के बाद काफी परेशानियों का सामना कर रहे हैं। उनके परिवार के सदस्यों की सुरक्षा में भी कमी कर दी गई है। उनके बेटे को मिले जेड श्रेणी की सुरक्षा को हटा लिया गया है।

इसके पहले इस बिल्डिंग को गिराने की योजना बुधवार की थी, लेकिन सीएम जगनमोहन रेड्डी ने अपना फैसला बदल दिया और एक दिन पहले ही मंगलवार को इसे ढहाने के आदेश जारी कर दिए। जैसे ही उनका काफिला वहां से निकला बिल्डिंग को ढहाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई। पाँच जून को नायडू ने रेड्डी को पत्र लिखकर प्रजा वेदिका बिल्डिंग उन्हें आवंटित करने की गुजारिश की थी ताकि वे विपक्ष के लिए कार्यालय की तरह इसका इस्तेमाल कर सकें। नायडू का आवास और प्रजा वेदिका दोनों कृष्णा नदी के किनारे पर बसा हुआ है।