मानसरोवर कैलाश और तिब्बत को पुन:भारत का अभिन्न अंग बनाना ही भगवान शंकर की होगी सच्ची आराधना-डा० अच्युतानंद सिंह

मानसरोवर कैलाश और तिब्बत को चीन के अवैध कब्जा से छीनकर भारत का पुनः अभिन्न अंग बनाना होगा, तब हम भगवान शंकर के समर्पित भक्त कहे जाएंगे। राष्ट्रीय एकता को मजबूत करने के लिए अपने हीत का त्याग करना होगा जैसे भगवान भोलेनाथ ने विषपान कर सृष्टि को बचाया था।
उक्त बातें महनार के पूर्व विधायक डाॅ अच्युतानंद सिंह विठौली मे निःशुल्क कांवरिया सेवा शिविर के उद्घाटन में बोल रहे थे।
यह शिविर आर्च वैशाली डेवलाॅपर्स प्राईवेट लिमिटेड के डायरेक्टर राजापाकर के अरविंद कुमार सिंह द्वारा लगाया गया है जिसका उद्घाटन पूर्व विधायक ने अपने कर कमलों से दीप प्रज्वलित कर किया, कार्यक्रम का संचालन डाॅ रुपक कुमार सिंह कर रहे थे। इस सेवा शिविर में चाय, नाश्ता, भोजन और दवा बिल्कुल निःशुल्क मिलेगा।
उद्घाटन समारोह में मुख्य रूप से केएन सिंह, शैलेश सिंह, रुपक सिंह, शन्नि सिंह, छोटन सिंह, राजेश भारतीय, राहुल सिंह किंग, विनीत सिंह, विनय सिंह, कुंदन सिंह, नवल राय, राजेश्वर गोप, सामू झा, अंगद सिंह, सुंदरम चौहान, पिंटू सिंह सहित विठौली, रहसा एवं हाँसी मलाही के सैंकड़ो लोग उपस्थित थे।