मधुरेन्द्र ने रेत पर चम्पारण की ऐतिहासिक विरासत बनाकर लोगों को मतदान के लिए किया जागरूक-मोतिहारी..

मोतिहारी (पूर्वी चंपारण) – इलेक्शन कमीशन के स्वीप आईकॉन सह प्रख्यात युवा सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र ने आज एक फिर से अपनी बेहतरीन अंदाज में सैंड आर्ट का नमूना पेश कर लोगों से आज रविवार को मोतिहारी के अगरवा मुहल्ला में स्थित चिकनी घाट से के समीप एक बिल्डिंग के नीचें में अपनी कलाकृति बनायीं हैं, बालू से बनी रेत की यह कलाकृतियां सभी वर्ग के मतदाताओं को वोट देने की संदेश दे रहें हैं। जिसे देखने के लिए हजारों की संख्या में लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। लोगों उनकी रेत कला के आगे सेल्फी ले रहें हैं।

सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र ने बताया कि आज मदर डे हैं और मतदान भी, इसलिए मदर इंडिया के नाम पर चम्पारणवासियों से ज्यादा से ज्यादा वोट देने की अपील किया हूं साथ लोगों को याद दिलाना चाहता हूं कि वर्ष 1917 में चम्पारण सत्याग्रह के दौरान चंपारण में ही थे, उनके साथ चम्पारणवासियों ने जो एकजुटता दिखाई थी, उससे अंग्रेजी हुकूमत हिल गयीं थी।

बता दें कि मधुरेन्द्र अपनी सैंड आर्ट के माध्यम से महात्मा गांधी, भारत मां, संसद व राष्ट्रीय ध्वज को एक साथ लेकर एक बार फिर से चम्पारण सत्याग्रह की यादें ताजा कर दीं हैं। उन्होंने अपनी सैंड आर्ट में भारत मां को जेहन में रखकर मतदाताओं को चम्पारण के सभी मतदाताओं को नायक बताया हैं। सही प्रतिनिधि को चुनकर अपनी वोट के जरिए संसद में भेजने का संदेश भी दिया हैं।

गौरतलब हो कि सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र कभी ट्रेन में बैठकर यात्रियों को, कभी टमटम पर बैठकर, तो कभी बड़े बड़े महानगरों में अपनी बेहतरीन सैंड आर्ट के जरिये मदरसों व स्कूलों में पहुंच छोटे बड़े बच्चों के साथ मिलकर उनके माता पिता को 12 मई को वोट देने की बात बता कर आज आखिरी दिन भी लोगों से शत प्रतिशत मतदान करने की कोशिश में जुटे हुए हैं, ताकि चम्पारण का ऐतिहासिक नाम मतदाता प्रतिशत में भी संसद में एक नंबर पर ला सके.

टीम रिपोर्ट-