भारत के हार से दो क्रिकेट प्रेमियों की मौत

अरविन्द तिवारी की रिपोर्ट

नई दिल्ली —  वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल मुकाबले में हार के साथ भारत के 2019 विश्व कप का सफर खत्म हो गया। भारत के इस हार को क्रिकेट प्रेमी बर्दाश्त नही कर पा रहे हैं और सदमें से ही उनकी मौत हो जा रही है। पहली घटना बिहार किशनगंज सदर अस्पताल में ड्रेसर के पद पर कार्यरत अशोक पासवान की है जो विश्वकप के सेमीफाइनल मैच में टीम इंडिया की हार सहन नही कर सके और सदमें से ही उनकी मौत हो गयी। घटना के बाद से मृत अशोक के घर में कोहराम मच गया और परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।
दूसरी घटना कोलकाता की है। जब मैनचेस्टर में भारत-न्यूजीलैंड के बीच खेला जा रहा पहले सेमीफाइनल का रोमांच अपने चरम पर था। आखिरी 11 गेंदों में भारत को 25 रन चाहिये थे। 49वें ओवर की तीसरी गेंद पर दूसरा रन चुराने की फिराक में धोनी रन आउट हो गये । उस वक्त कोलकाता के साईकल दुकानदार श्रीकांत मैती अपनी दुकान में बैठे मोबाइल पर मैच देख रहे थे। मार्टिन गप्टिल के इस थ्रो ने न सिर्फ टीम इंडिया के करोड़ों फैंस को निराश कर दिया बल्कि कोलकाता के श्रीकांत मैती को ऐसा सदमा दिया जिसे वह सहन नहीं कर सके और धोनी के आऊट होने के तुरंत बाद दुकान के अंदर ही उनकी सांसें थम गयी। आसपास के लोग तेज आवाज सुनने पर दुकान में मदद के लिए पहुँचे। जमीन पर अचेत अवस्था में पड़ा देख उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टर्स ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।