बिहार-सातवें चरण के आठ संसदीय सीटों के 37% फीसदी उम्मीदवार करोड़पति, दागियों कि संख्या भी कम नहीं, बिहार इलेक्शन वॉच और एडिआर कि रिपोर्ट में खुलासा-.रवि शर्मा के साथ एक नजर-..

पटना-बिहार इलेक्शन वॉच और एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडिआर) द्वारा संयुक्त रूप से जारी किया गई एक रिपोर्ट में बताया गया है कि लोकसभा चुनाव 2019 के सातवें और अंतिम चरण में बिहार के आठ संसदीय सीटों पर चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों में 37% करोड़पति हैं.जिसमे पाटलिपुत्र से निर्दलीय प्रत्याशी रमेश कुमार शर्मा के पास सर्वाधिक 1107 करोड़ 58 लाख 33 हजार 190 रुपए की चल-अचल संपत्ति मौजूद है.वहीं दुसरे नंबर पर पटना साहिब से कांग्रेस उम्मीदवार शाटगन शत्रुघ्न सिन्हा है जिनके पास 193 करोड़ 54 लाख 59 हजार 756 रुपए की चल-अचल संपत्ति मौजूद हैं.तीसरे नंबर पर राजनीतिक विकल्प पार्टी के टिकट पर जहानाबाद से किस्मत आजमा रहे अरविंद कुमार के पास 91 करोड़ 20 लाख 2 हजार 858 रुपए की चल-अचल संपत्ति मौजूद हैं.वहीं इस चरण में सबसे कम 21 हजार रुपए की संपत्ति के साथ नालंदा से निर्दलीय उम्मीदवार सुधीर कुमार किस्मत आजमा रहे हैं.सातवें चरण के उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 11.31 करोड़ रुपए है.कुल उम्मीदवारों में 66 प्रत्याशी कर्जदार भी है.इस रिपोर्ट के मुताबिक 36 प्रत्याशीयों के खिलाफ आपराधिक मामले भी दर्ज है वहीं 26 उम्मीदवारों के खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं.
सातवें चरण के चुनाव में नालंदा में तीन बैलेट यूनिट,पटना साहिब, पाटलिपुत्र और काराकाट में दो दो बैलेट यूनिट और आरा,बक्सर, सासाराम और जहानाबाद में एक एक बैलेट यूनिट लगाए जाएंगे.