पुलिस-व्यवसाई संवाद कार्यक्रम असफल,बढ़ रहे आपराधिक घटनाओं से व्यापारी परेशान-पटना

पटना-पटनासिटी मे हाल के दिनों मे व्यवसायी वर्ग के साथ बढ़े आपराधिक घटनाओं से व्यवसायी वर्ग खासा परेशान हैं.इन बातों को लेकर विभिन्न कारोबारी संगठन के लोग एक मंच पर आकर बीते दिनों एक आपसी सहमती के बाद बढ़ रहे अपराध पर नियंत्रण को लेकर व्यवसायी और वरीय पुलिस अधिकारियों के बीच सिधे संवाद को लेकर आज पटनासिटी के केएल7 ऑडिटोरियम,गायघाट मे एक बैठक का आयोजन किया था.

हालांकि एक-दो स्थानीय थाना और स्थानीय डीएसपी के अलावा इस बैठक के दौरान वरीय पुलिस पदाधिकारियों की उपस्थिति नाम मात्र कि रही.वरीय पुलिस पदाधिकारियों के इस रवैये से व्यवसायी वर्ग के लोग नाराज दिखे और अपने अपने संबोधन मे उनकी नाराजगी स्पष्ट दिखी.

हैरत की बात रही कि कार्यक्रम के बैनर पर जिस वरीय पुलिस पदाधिकारी का नाम छपा था उन्होंने व्यवसायियों कि बात सुनना मुनासिब नहीं समझा और वो नहीं आये.अपने संबोधन के दौरान पटनासिटी व्यापार मंडल के अध्यक्ष प्रदिप सिंह यादव ने बचपन मे पढ़ीं एक कविता के जरिए कड़ी टिप्पणी करते हुए यह बताया कि आज की तारीख मे पुलिस अपनी छवि खो चुकी हैं और “व्हेन कैरेक्टर इज लॉस देन एवरीथिंग लॉस” वाली बात लागू हो रही है. उन्होंने अफसोस जताते हुए यह कहा कि जिस व्यवसायी वर्ग के द्वारा दिए जा रहे टैक्स के पैसे से यह सरकारी तंत्र कार्यरत है उसी के दर्द को सुनने के लिए इनके पास वक्त नहीं है.उन्होंने कहा कि आज के वक्त मे पुलिस अपराधियों की सुनती है.शरीफ आदमी थाना पुलिस के नाम से भयक्रांत हो जाता हैं.अन्य व्यावसायियों ने भी अपने संबोधन मे पुलिस-प्रशासन के द्वारा उपेक्षित व्यवहार करने का आरोप लगाया.गौरतलब है कि शहर मे आपराधिक वारदातें लगातार घटित हो रही है और पुलिस-प्रशासन का पुरा फोकस सिर्फ शराबबंदी पर दिख रहा है.