पंच-सरपंच संघ की प्रशासनीक समस्याओं से रूबरू होंगे डीजीपी,आगामी 26 जून को पटना में होना है कार्यक्रम-

पटना-ग्रामीण अदालतो मे लंबित छोटे मामलों के निष्पादन मे सरपंच की अहम भुमिका होती है.विगत सालों मे ग्राम कचहरी के न्यायीक जनप्रतिनिधियों ने सुबे के लाखों मामलों का निपटारा किया है.फिर भी उचित सुरक्षा,साधन और प्रशासनीक उदासीनता के कारण न्यायिक जनप्रतिनिधि अपने ग्राम कचहरी के क्षमताओं के मुताबिक मामलों का निपटारा नहीं कर पा रहे हैं.विगत कई सालों से धरना,प्रदर्शन और बड़े अधिकारियों,मंत्रियों से मिलने और न्यायिक कार्यों के निपटाने में आ रही समस्याओं से उन्हें अवगत कराने के बावजूद न्यायिक जनप्रतिनिधियों के समस्याओं का निपटारा नहीं हो रहा है.विगत कई सालों से इस संबंध मे पंच-सरपंच संघ के बिहार के प्रदेश अध्यक्ष अमोद कुमार निराला की अगुआई मे पंच-सरपंच संघ लगातार संघर्ष कर रहा है.अपराध पर नियंत्रण को लेकर बेहद ही सजग और आम जनता से लगातार मुखातीब रहने वाले बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने न्यायिक जनप्रतिनिधियों को न्यायिक कार्यों के निष्पादन में आने वाली प्रशासनिक दिक्कतों और प्रशासन स्तरीय समस्याओं के समाधान के लिए आगामी 26 जून को पंच-सरपंच संघ के प्रदेश स्तरीय एक कार्यक्रम में भाग लेने की हामी भरी है.

अमोद कुमार निराला,प्रदेश अध्यक्ष

यह कार्यक्रम बिहार राज्य पंचायत परिषद,पटना के सभागार में होना है.कार्यक्रम के संबंध मे पंच-सरपंच संघ के प्रदेश अध्यक्ष अमोद कुमार निराला ने बताया की राज्य की 80% आबादी गांवो मे रहती है. जिनका प्रतिनिधित्व पंचायत से वार्ड स्तर पर जनता के द्वारा चुने गए ग्राम कचहरी प्रतिनिधि सरपंच,उपसरपंच तथा पंचगण करते है. ग्राम कचहरी को कुल 40+2 पशु अत्याचार सहित 42 धाराओ तथा आपसी समझौता के आधार पर कई तरह के वाद देखने-सुनने तथा निर्णय करने का कानूनी अधिकार प्राप्त है,पर पुलिस प्रशासन के अपूर्ण सहयोग के कारण न्यायिक प्रतिनिधियों को कई तरह के समस्याओं से दो-चार होना पड़ता है.कई न्यायीक प्रतिनिधियों को भी झूठे मुकदमों में फंसा दिया गया है,उन्हे धमकियां दी जाती है और कई न्यायिक प्रतिनिधियों की हत्या भी हो चुकी है.इन समस्याओं से निजात हेतु संघ के एक शिष्टमंडल ने 31 मई को पत्र लिखकर डीजीपी महोदय का ध्यान आकृष्ट कराया तथा न्याय प्रतिनिधि पुलिस प्रशासन संवाद हेतु पुलिस सुप्रीमो श्री गुप्तेश्वर पाण्डेय जी को मुख्य अतिथि के रूप मे आमंत्रित किया,जिसके आलोक मे स्वीकृत प्राप्त हो गई है.
उक्त राज्य स्तरीय महाबैठक मे सभी 38 जिलो के माननीय जिलाध्यक्ष,अनुमण्डलाध्यक्ष,उपाध्यक्ष,महासचिव, संयोजक,संरक्षक,प्रदेश पदाधिकारी,कार्यसमिति सदस्य,प्रमंडल और जिला संगठन प्रभारी,सहयोगी मार्गदर्शन सरपंच,उपसरपंच एवं पंच भाई-बहनो को आमंत्रित किया गया है जहां अगर वो किसी प्रशासनीक समस्या से त्रस्त है तो अपना आवेदन जिलाध्यक्ष के माध्यम से पुलिस महानिदेशक को दे सकते हैं.कार्यक्रम दो पाली मे होना सुनिश्चित हुआ है प्रथम पाली सुबह 11 बजे से दोपहर 01 बजे तक तथा द्वितीय पाली दोपहर 01:30 बजे से 03:30 बजे तक होना है.उक्त कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के तौर पर पंचायती राज विभाग के पूर्व मंत्री और संघ के संरक्षक डा०भीम सिंह और पंच-सरपंच संघ के संस्थापक अखिलेश बाबा शिरकत करेंगे.
रवि शर्मा…