दिल्ली से पहुंची डाक्टरो की टीम,इंसेफेलाइटीस पर किर्ती आजाद ने मांगा सीएम का इस्तीफा-

फाइल फोटो

मुजफ्फरपुर-बिहार में इन्सेफेलाइटिस का कहर रूक नही रहा है.मासुमों की मौत का सिलसिला लगातार जारी है.जिसे लेकर पूर्व सांसद और कांग्रेस नेता कीर्ति आजाद ने सरकार पर निशाना साधते हुए मांग की है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार चमकी बुखार से हो रही बच्चों की मौत की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए पद से इस्तीफा दें. दरभंगा पहुंचे कीर्ति आजाद ने मुख्यमंत्री को याद दिलाया कि किस तरह अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में रेल दुर्घटना होने पर नीतीश कुमार ने रेल मंत्री पद से अपना इस्तीफा दिया था. उसी तरह बच्चों की मौत नहीं रोक पाने के कारण वह नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दें.
कांग्रेस नेता श्नी आजाद ने कहा कि बिहार सरकार संवेदनशील नहीं है. इस परिस्थिति में नीतीश कुमार का मुख्यमंत्री पद पर बने रहना बेहद शर्मनाक है. सरकार के पास कोइ जवाब नहीं, इसलिए वे चुप हैं. गौरतलब है कि बिहार में इंसेफेलाइटीस से बच्चों की मौत का आंकड़ा 167 पार कर चुका है. वहीं, करीब 650 से अधिक मरीज प्रभावित हैं. केवल मुजफ्फरपुर में ही इंसेफेलाइटीस से 129 बच्चे काल के गाल में समा चुके हैं.

दिल्ली से विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम पहुंची

केंद्र सरकार के अपर सचिव मनोज झलानी,एडीशनल हेल्थ सेक्रेटरी (बिहार) कौशल किशोर,दिल्ली के शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. अरुण कुमार सिंह, दिल्ली से संक्रामक रोग विशेषज्ञ डॉ. सत्यम,बिहार के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार और जिलाधिकारी आलोक रंजन घोष शुक्रवार को मुजफ्फरपुर के एसकेएमसीएच पहुंचे. उन्होंने पीआईसीयू का निरीक्षण कर पीड़ित बच्चों का हाल जाना और डॉक्‍टर्स के साथ बैठक की.

टीम रिपोर्ट