छह: साल की मासुम बच्ची के हत्या और बलात्कार के आरोपी को युपी पुलिस ने जवाबी कारवाई मे मारी गोली-

पुलिस कप्तान अजय पाल शर्मा,रामपुर

लखनऊ-भारत के इतिहास मे शायद पहली बार किसी बलात्कार के आरोपी को गोली मारी गई है.देश की आम जनता मे जिस बात के लिए आक्रोश था वो शुरू हुआ उत्तर प्रदेश के रामपुर में,जी हां छह: साल की मासुम बच्ची के हत्यारे नाज़िल को पुलिस ने जवाबी कारवाई मे तीन गोलिंया मारी है.इस घटना के बाद पुरे देश मे रामपुर पुलिस की कमान संभालें अजयपाल शर्मा की जय जयकार हो रही है.

“अजय तुम्हारी जय हो”

निश्चित तौर पर यह जय जयकार उस जनता की तरफ से उठा है जो हर दिन अपने हाथों से अपनी फुल सी मासूम बच्चीयों के शव का अंतिम संस्कार कर रहे थे और उस जनता के द्वारा भी जो सैकड़ो किलोमीटर दूर बैठ कर आक्रोश मे भर कर आंखों में आंसू लिए सड़को पर उतर कर मासूमो के हत्यारे और बलात्कारीयों के लिए मौत की सज़ा मांगते थे.रामपुर की इस घटना के बाद अचानक ही उन आंसू और आक्रोश भरी आंखों में एक चमक आ गई है और इस खबर ने उन्हें यह अहसास दिलाया है की अब शायद घिनौने कृत्य करने वाले अपराधियों के मंसूबे टूटेंगे.उन्हें इस बात का सुकून है की कम से कम उत्तर प्रदेश की पुलिस ऐसे रूप में आ रही है जो बेहद जरूरी था.बिते दिनो उत्तर प्रदेश अपराधीयों के कुकृत्यों से काफी चर्चा मे रहा था.वैसे मे न सिर्फ उत्तर प्रदेश पुलिस को अपनी शाख बचानी थी बल्कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की इज्जत भी दांव पर लगी थी.योगी आदित्यनाथ ने बहुत विश्वास के साथ रामपुर पुलिस की कमान अजय पाल शर्मा के हाथों में सौंपी थी. योगी आदित्यनाथ को अब उनके विश्वास के प्रतिफल मिलने लगे हैं.आपको बता दे की बिते 6 मई को यह बच्ची गायब हो गई थी,कल शनीवार को बच्ची की लाश बरामद हुई थी.नाज़िल पर बच्ची के बलात्कार और हत्या का आरोप लगा था.रामपुर पुलिस के कप्तान अजयपाल शर्मा ने जब नाजिल को गिरफ्तार करना चाहा तो उसने पुलिस पार्टी पर गोली चला दी जिसके बाद पुलिस कप्तान और एनकाउँटर स्पेशलिस्ट अजयपाल शर्मा ने जवाबी कारवाई मे नाजिल का एनकाउँटर कर दिया.

घायल आरोपी नाजिल

यकीनन उस मासुम की आत्मा को सुकून मिला होगा जिसको बेरहमी से मार कर नाज़िल ने ये साबित किया था कि वो इंसान के वेश में छिपा एक दरिंदा है जो सभ्य समाज के लिए खतरा है.एनकाउँटर मे बुरी तरह घायल नाज़िल का इलाज कानून के मुताबिक पुलिस अभिरक्षा में हो रहा है,कल तक नाज़िल की दरिंंदगी से सहमा रामपुर आज अजय पाल शर्मा व उनके नेेतृत्व में कार्यरत पुुुलिस बल की कार्यशैली के कसीदें पढ़ रहा है.

टीम रिपोर्ट