छग का लाल हुआ शहीद , सबकी आँखें हुई नम

रायपुर-छत्तीसगढ़ राज्य के बालोद जिला निवासी सशस्त्र सीमा बल का जवान जम्मू कश्मीर में पेट्रोलिंग के दौरान बर्फ में दबने से शहीद हो गया।उनके गृहग्राम में राजकीय सम्मान के साथ उनको अंतिम बिदायी दिया गया।छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने भी जवान के शहीद होने पर गहरा दुख व्यक्त किया है। इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार छत्तीसगढ़ राज्य के बालोद जिला के पैरी गांव निवासी दिनेश सिंह ठाकुर पिता बेखमलाल ठाकुर सशस्त्र सीमा बल जम्मू क्षेत्र के ग्यारहवीं बटालियन में पदस्थ था।गत दिवस अपनी टीम के साथ सीमा क्षेत्र में पेट्रोलिंग कर रहा था कि बर्फीला पहाड़ धसकने से बर्फीले चपेट में आकर शहीद हो गया,इसकी जानकारी मिलते ही गांव के आसपास के क्षेत्रों में मातम छा गया। बालोद जिला पुलिस अधीक्षक को गृह मंत्रालय से मिले पत्र के अनुसार कल सोमवार शाम को शहीद जवान का पार्थिव शरीर विमान से रायपुर लाया जाना था लेकिन किसी कारणवश आज लाया गया।रायपुर से उनके गांव पैरी ले जाया गया यहां सशस्त्र सीमा बल द्वारा सम्मान पूर्वक सलामी दी गई ।शहीद को अंतिम विदायी देने के लिये गांव सहित आसपास के ग्रामीण लोग भी पहुंचे थे.सभी की आंखें नम थीं । इस मौके पर छत्तीसगढ़ सरकार के मंत्री अनिला भेड़िया और विधायक कुंवर सिंह निषाद भी मौजूद थे।गौरतलब है कि शहीद की शादी पिछले मई में हुई थी और सबसे पहले वह पोस्ट मास्टर था।देश भक्ति की भावना से प्रेरित होकर 2014 में सेना में भर्ती हुआ उनकी पहली पोस्टिंग उत्तराखंड में थी और 2017 से जम्मू में पदस्थ था।उनके गृहग्राम में शहीद जवान का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया गया ।

मुख्यमंत्री ने दुख व्यक्त किया–छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जवान दिनेश सिंह के शहीद होने पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए शोक संतप्त परिवार जनों के प्रति संवेदना व्यक्त किया है।
रिपोर्ट-अरविन्द तिवारी