गौमाता की अनुदान बढ़ाने पर गोभक्तों ने मुख्यमंत्री का किया स्वागत

जयपुर– गोभक्त श्री अशोकजी गहलोत के मुख्यमंत्रित्व में नवगठित राजस्थान के समक्ष राजस्थान के गोवंश एवं गोशालाओं की आवश्यकताओं एवं समस्याओं को सरकार के समक्ष प्रस्तुत करने हेतु श्री गोधाम महातीर्थ पथमेडा का प्रतिनिधि मण्डल एक फरवरी को राजस्थान के मुख्यमंत्री से मिला। स्वयं मुख्यमंत्री जी भारत के गोभक्तों की सिरमोर लोकप्रसिद्ध गोसेवी संस्थान “श्री गोधाम महातीर्थ पथमेड़ा” जाकर “गो पूजन” किया और गोऋषि स्वामी “श्री दत्तशरणानन्दजी महाराज” से विस्तृत गोसेवा विषयक चर्चा की । दो मार्च को जयपुर मे प्रदेश की सभी गौशालाओ के संचालको की उपस्थिति मे सरकार ने “राज्यस्तरीय गोरक्षा सम्मेलन”का आयोजन किया जिसमे स्वयं मुख्यमंत्री उपस्थित रहे और गौशालाओ के सबंधित विभिन्न समस्याओं पर चर्चा की , जो सम्भवत: किसी भी सरकार के द्वारा आयोजित यह पहला सम्मेलन था । उसके बाद दस मार्च को मुख्यमंत्री ने छोटे गोवंश का अनुदान 16 रुपये से बढ़ाकर 20 रूपये और बड़े गोवंश का 32 रूपये से बढ़ाकर 40 रुपये किया है।

अरविन्द तिवारी ने किया स्वागत —
छत्तीसगढ़ गो सेवा संगठन के प्रदेश पदाधिकारी एवं राष्ट्रीय सूचना प्रसारण आयुक्त अरविन्द तिवारी ने मुख्यमंत्री के इस फैसले का स्वागत करते हुये कहा है कि राजस्थान सरकार के गठन के दो माह के अंतराल मे ही गो सेवा के कार्यो मे सरकार ने इतनी रुची दिखाई व कार्य किया । इसके लिये राजस्थान सरकार का हार्दिक अभिनन्दन व धन्यवाद। आशा है इससे अन्य सरकारें भी प्रेरणा लेंगी व विश्वास है कि ये सरकार गोसेवा के क्षेत्र में बचे हुये अन्य कार्य भी शीघ्र करेगी। पिछले साल कुछ गौशालाओं में गोवंशों की अकाल मृत्यु हो गयी थी। सरकार गौशाला प्रबंधनों पर भी विशेष निगरानी रखे ताकि इस प्रकार की घटनाओं की पुनरावृत्ति ना हो सके ।
रिपोर्ट-अरविन्द तिवारी