अच्छे संस्कार की रीढ़ है महिलाएं — डी.एल. शर्मा

नई दिल्ली-अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर संस्कार सेना के राष्ट्रीय महाचिव डीएल शर्मा ने पत्रकारों को सम्मानित करते हुए कहा कि यदि महिलाएं अपने आने वाले पीढ़ी को अच्छा संस्कार देंगी तभी देश का संस्कार विश्व में सबसे महान होगा।
उन्होंने कहा कि आने वाली महिलाओं का सबसे बड़ा योग्दान भारत के संस्कार को आगे ले जाने में सहयोगी साबित होगा। अपने बच्चों को अच्छा संस्कार देने के साथ ही माता पिता की सेवा करने की भी आदत अपने व्यवहार में लाना होगा।
उक्त संगठन के संस्थापक हरभजन जागड़े ने कहा कि देश में एक नई कीर्ति आई है और सभी धर्म के मानने वाले लोग एक जुट हो रहें है और राष्ट्रवाद की सोच में वृद्धि हुई है। संस्कार की ही देन है कि वर्तमान भारत की नींव को कोई हिला नहीं पा रहा है और विश्व में काफी मजबूत स्थित में पहुंच चुका है।
इस अवसर पर परी अखाड़े की संस्थापक व शंकराचार्य त्रिकाल भवन्ता ने कहा कि अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर न्यूज रिपोर्ट्स क्लब में संस्कार सेना के पदाधिकारियों ने आज दो विभिन्न धर्म के मानने वालों को एक मंच पर बैठाया है। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जिस तरह कुम्भ को भव्य एवं दिब्य और सुरक्षित कुम्भ कराने में कोई कमी नहीं छोड़ा। जिससे पूरे विश्व में कुम्भ की भव्यता दिखाई दे रही है। हालांकि बड़े कार्यो को करने में कुछ न कुछ कमी रह ही जाती है। सम्मान समारोह की अध्यक्षता कर रहे वरिष्ठ पत्रकार रतन दीक्षित ने संस्कार सेना के पदाधिकारियों को इस कार्य को आगे बढ़ाने के लिए कहा। इस कार्य के लिए पत्रकार समाज आप के सहयोग में सदैव खड़ा रहेगा।

इलाहाबाद न्यूज रिपोर्टस क्लब के अध्यक्ष अशोक चतुर्वेदी, समाजसेवी नाजिया नफीस, धर्मगुरू मोईन हबीबी ने सभी पत्रकारों को संगठन की ओर से सील्ड देकर सम्मानित किया। सम्मानित होने वाले पत्रकारों में प्रेस क्लब के सचिव मुनेन्द्र बाजपेयी, धीरेन्द्र द्विवेदी,शोएब रिजवी, मनीष वर्मा, आरिफ राजू, राम बहादुर,सुधीर सिन्हा, मो. आरिफ , सैय्यद रजा,मेराज अहमद,देवेन्द्र राय है।
रिपोर्ट-अरविन्द तिवारी